फीमेल कोंडोम उपयोग करने का तरीका और टिप्स

* सम्बन्ध बनाने के दौरान पुरूष ही हमेसा कंडोम का उपयोग करे यह जरुरी नहीं है। स्त्री भी फीमेल कंडोम का इस्तेमाल कर सकती है, female condom को लेकर महलिओ के मन में अक्सर कुछ प्रश्न रहते है, कुछ शंकाए रहती है। इस लेख में हम आपको फीमेल कंडोम से जुडी महत्वपूण बाटे बतायगे। इस कंडोम का उपयोग किस तरह किया जाये और किस तरह नहीं इसका उपयोग नहीं किया जाये।

* सम्बन्ध बनाते समय स्त्री या परूष दोनों में से किसी एक को ही कंडोम ला इस्तेमाल करना चाहिये ।

क्योकि मेल और फीमेल कंडोम एक साथ इस्तमाल होने से फटने का खतरा रहता है।

* फीमेल कंडोम लंबी पोलोथिन थैली होती है जो दोनों किनारो तरफ से लचीला होता है।

* परूष के लेटेक्स से बने कंडोम की अपेक्षा महिलाओं के पोलोथिन से बने कंडोम से एलर्जी की संवभावना कम रहती है। इसको रखने के लिए विशेष सावधानी की जरुरत नहीं पड़ती क्योकि पोलोथिन पर तापमान के बदलाव का कोई असर नहीं पड़ता।

* फीमेल कंडोम में पहले से ही चिकनाई होती है। जिस कारण आपकी योगी अगर सुखी भी रहती है तो, तो इस कंडोम के इस्तेमाल से आपको दर्द नहीं होगा।

* फीमेल कंडोम को सावधान से खोलकर ठीक तरह से योनि में लगना छाए। सुरुवात में महिलो कंडोम का प्रयोग मुश्किल होता है। लेकिन उपयोग करते करते इसका प्रयोग करने आसान लगने लगता है।

* सेक्स के बाद फीमेल कंडोम को निकलने के लिए रिंग को हलके से घुमाए और कंडोम को इस तरह भर निकाले की वीर्य उसमे ही रहे।

*सेक्स के दौरान यदि महिला कंडोम खिसक या फैट जाये तो तुरंत सेक्स रोक डरना चाहिये।

और फाटे हुए कंडोम को भर निकालकर दूसरे कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिये।

* जिन महिलाओ को पृष्ठ कंडोम से अलिर्ज़ी होती है उनके लिए महिला कंडोम सर्वश्रेस्ठ तरीका है।

* गर्भनिरोद्दक के साथ भी कंडोम का इस्तेमाल किया जा सकता है।

* फीमेल कंडोम का इस्तेमाल करने के लिए डॉक्टर की पर्ची की जरुरत नहीं होती है।

* कुछ महिलाओ को फीमेल कंडोम से योगी या गुदा में जलन हो सकती है।

* फीमेल कंडोम की सफलता की सम्भावना 75-80 % तक होती है।

* साराश यह है की आप  बिना चिंता के फीमेल कंडोम का उपयोग कर सकते है।

और अगर फ़ीमेल कंडोम आपको सूट नहीं करता तो, तो आप अपने साथी पुरुष को पुरष कंडोम इस्तेमाल करने को बोल सकती है।

* महिला कंडोम से इंटरकोर्स करते समय कई बार आवाज़ अति है जिसमे बचने के लिए चिनाई का इस्तेमाल करना चाहिये।

* इसके इस्तेमाल जे समय अधिक तेजी न करने वरना यह फैट सकता है।

* निकलते समय इसे दो चार बार घुमा लेना चाहिये, इससे इसको निकलने में आसानी होती है।

* इसके इस्तेमाल से आनंद में कोई कमी नहीं आती है क्योकि यह बेहद पतला होता है इसलिए महिलाये इंटेरकोसरे का पूरा आनंद लेती है।

धन्यवाद।