स्वपन दोष रोकने के घरेलू तरीके

स्वपनदोष:

रात में सोते वक्त अगर लड़के का खुद बे खुद वीर्य निकल जाना स्वपनदोष कहलाता है। किशोरावस्था और युवावस्ता में लड़को का स्वपनदोष होना एक साधारण से बात है। अगर आप को एक माह में 1-2 बार स्वपनदोष होता है तो डरने की बात नहीं है। यह एक सामान्य बात है। क्योकि पुरुष के शारीर में हमेशा वीर्य बनता रहता है। इसलिए एक सीमा के बाद वीर्य कुढ़ पे कुढ़ निकल जाता है। विवाहके बाद स्वपनदोष पूरी तरह खत्म हो जाता है। और यद् रखे की यह कोई बीमारी नहीं है।

 

स्वपनदोष के मुख्य कारण

अश्लील कहानी पढ़ना या पोर्न फिल्म्स देखना

* सेक्स के बारे में भौत ज्यादा सोचना या स्त्री के कोमल या योगनो के बारे में ज्यादा पढ़ना, देखना, या सुनना

* वीर्य को ज्यादा दिनों से सवखलित नहीं होना, मतलब की वीर्य का over stock होना

स्वपनदोष रोकने के कुछ कारगर उपाय:

खुद को व्यस्त रखे, और अपने विचारो और मन में सुद्धता लाये। आपके दिमाग या अपने मन में अश्लील या कामुक बाते नहीं होनी चहिये, तो स्वपनदोष भी नहीं होगा।

* porn films न देखे, क्योकि इससे आपका दिमाग कामुक विचारो से मुक्त नहीं हो पायेगा।

* नहाने के लिए ठन्डे पानी का उपयोग करे, गरम पानी से न नहाये।

* सोने से पहले रत में गरम दूध न पिए।

* हफ्ते में 1 बार हस्तमैथुन कर सकते है इससे वीर्य की अधिक होने वाली मात्रा बहार निकल जायगी। जिससे स्वपनदोष भी नहीं होगा।

*सोने से 2-3 घंटे पहले खाना खा ले ।

* आपकी दिनचर्या ऐसी होनी चहिये जिसे आपको अश्लीलता के चक्कर में न पड़ना पड़े।

* हर दिन सूर्योदय से पहले उठे, व्यायाम, योग एवं रोज पूजा करे। धार्मिक चीज़ों की और अपनी रूचि बढ़ाये।

* रत में सोने से पहले पिशाब जरूर करे और रत में पानी क पिए।

* रत में सोने से पहले अंडरवियर खोल ले और लोअर या किसी अन्य तरह का ढीला कपडा पहन के सोय।

* सुबह सुबह खाली पर घास में morning wlak करे।

* लिंग की नियमित सफाई करे।

* अन्य किसी तरह का प्रयोग करने मई जरुरत नहीं है। न ही किसी नीम-हकीम के झांसे में आने ली जरुरत है। स्वपनदोष कोई बीमारी नहीं है। यह बात आपको  से मालूम होना छाए। और न ही यह बचपन की कोई भूल है।

इस लेख में बताये गए तरिको को जरूर अपनाये और अपना अनुभब हमें जरूर बताये