उम्र से पहले बालों का सफेद होना, बन सकता हैं हार्ट अटैक का कारण!

हार्ट अटैक और दिल की बीमारियां इतनी खतरनाक और जानलेवा होती हैं कि सीधा इंसान की जान को खतरा होता है। जिस तरह का आजकल खानपान और लाइफस्टाइल हो गया है उसमें स्वस्थ रह पाना बहुत मुश्किल हो गया है। दिमागी तौर पर बीमार रहना, सिर दर्द, डिप्रेशन, थकान और उम्र से पहले बालों का सफेद होना आजकल की आम समस्याएं हो गई हैं। बाल सफेद होना भले ही आपको एक आम समस्या लग रही हो लेकिन इसके संकेत बहुत भयावही हो सकते हैं। जी हां, शोधकर्ताओं का कहना है कि बाल सफेद होने के पीछे दिल की बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं। एक नए अध्ययन में सामने आया है कि जिन पुरुषों के बाल उम्र से पहले ही सफेद होने लगते हैं, उन्हें दिल की बीमारी की चपेट में आने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है।

क्या है सफेद बाल और दिल की बीमारी का संबंध?

इजिप्ट (Egypt) में हुई एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने कई लोगों पर ये शोध करने के बाद साफ किया है कि सफेद बाल और दिल के रोग में एक बड़ा संबंध है। उनका कहना है कि धमनियों की आंतरिक दीवारों पर वसा के जमाव और बालों के सफेद होने की जैविक प्रक्रिया में काफी समानताएं होती हैं। इस चरण को एथेरोस्केलेरोसिस कहते हैं। यानि कि इस प्रक्रिया में धमनियों में रक्त प्रवाह का मार्ग बहुत छोटा हो जाता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने इस पूरी रिसर्च में शामिल लोगों की धमनियों की अंदरुनी स्थिति की सीटी कोरोनरी एंजियोग्राफी तकनीक के जरिये जांच की थी। जिसके चलते सफेद बाल और दिल की बीमारी का खुलासा हुआ है।

हार्ट अटैक के लक्षण

वैसे तो हार्ट अटैक के कई लक्षण होते हैं। लेकिन आज हम आपको इसके कुछ सामान्य लक्षण बता रहे हैं। आइए जानते हैं क्या हैं—

  • सीने में भारीपन, दर्द और जलन महसूस होना
  • पेट और पीठ में नियमित दर्द रहना
  • गर्दन और मुंह के जबड़े में दर्द होना
  • लगातार पसीना आना
  • उल्टी और मितली जैसा लगना

बचने केे लिए उपाय

  • साइकिलिंग या वॉकिंग करना
  • अगर संभव है तो नियमित स्वीमिंग करें
  • धूम्रपान को दूर से ही अंगूठा दिखाएं
  • ज्यादा वसा वाला खाना ना खाएं
  • नमक का सेवन कम करें
  • तनाव और टेंशन को पास ना आने दें
  • समय पर खाना खाएं
  • रोजाना कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लें
  • चाय और कॉफी का कम से कम सेवन करें
  • 8 से 10 ग्लास रोजाना पानी पीएं